Part 2 । प्रिया और विशाल मन ही मन एक दुसरे को चाहने लगे

August 08, 2020
Ek ladki ka pehla pyaar Part 2

अब प्रिया और विशाल का मोबाइल फोन पर ही रूठना और मनना होता था

विशाल दिल्ली आने के बाद अपने काम में लग गया और अपने पुरानी जिंदगी में व्यस्त हो गया लेकिन उसका अभी भी दिल प्रिया के पास ही रह गया था उसे प्रिया कि याद सताती थी और प्रिया भी विशाल को याद करके जी रही थी प्रिया का मन भी अब कही नहीं लग रहा था वह ठीक से अपनी पढ़ाई भी नहीं कर पा रही थी।

प्रिया हमेशा विशाल कि यादो में खोई खोई सी रहती थी। अब दोनों के पास सिर्फ एक ही सहारा था मोबाइल फोन जिसके द्वारा विशाल और प्रिया रोज एक दुसरे से घंटो फोन पर बाते करते हंसी मजाक करते लेकिन मिल नहीं पाते थे। विशाल का अब प्रिया के गाव में कोई काम नहीं था इसलिए दुबारा अब प्रिया के गाव जाना मुमकिन नहीं था और दिल्ली से प्रिया का गाव भी बहुत दूर था इसलिए विशाल और प्रिया का मिलना बहुत ही मुस्किल था।

अब जब भी उन दोनों का मन करता था तब वे एक दुसरे को फोन लगाकर बाते कर लेते थे और अपने मन को शांत कर लेते थे। अब प्रिया और विशाल का मोबाइल फोन पर ही रूठना और मनना होता था। कई दिनों तक ऐसे ही चलता रहा और विशाल ने प्रिया से मिलने का निश्चय किया और कुछ बहाना बनाकर प्रिया से मिलने प्रिया के गाव चला गया जिससे प्रिया भी बहुत खुश हो गयी सालो के बाद विशाल और प्रिया का मिलन होने वाला था यह जानकर प्रिया कि खुसी का कोई ठिकाना ही नहीं था प्रिया मन ही मन बहुत खुश थी।

फिर कुछ दिनों के बाद वह समय आ गया जब विशाल और प्रिया एक दुसरे को एक पार्क में मिले वहा वे दोनों एक दुसरे को देखकर बहुत ही खुश हुए दोनों कि ख़ुशी का ठिकाना ही नहीं था वहा उन्होंने एक दुसरे को जी भर के देखा। प्रिया और विशाल दोनों बहुत दिनों के बाद एक दुसरे को मिल रहे थे इसलिए उन दोनों ने एक दुसरे को impress करने के लिए एक दुसरे के पसंद कि रंग के कपडे पहने हुए थे एक दुसरे के लिए उपहार भी लाये थे। एक दुसरे को जी भर के देखने के बाद दोनों ने बहुत सी बाते कि और फिर विशाल प्रिया को motercycle पर लेकर एक रेस्टोरंट में चला गया वहा उन दोनों ने खाना खाया और एक दुसरे कि पसंद के कपडे ख़रीदे ढेर साडी प्यार भरी बाते कि हंसी मजाक किया और शाम को प्रिया को उसके घर पंहुचा दिया और लौटते समय विशाल चलती मोटरसायकल से जोर जोर से प्रिया i love u प्रिया i love u कहता और प्यार भरे गाने गाता जिससे प्रिया और impress हुई और चलती मोटरसायकल पर विशाल को एक प्यारा सा चुम्मा दे दिया और वह पल उन दोनों के लिए एक यादगार पल बन गया।

विशाल और प्रिया के लिए वह दिन बहुत ही अनमोल था विशाल के साथ पूरा दिन बिताया घुमे फिरे खूब मस्ती कि सच में विशाल के साथ बिताया हुवा वह दिन बहुत ही अनमोल था जिसे विशाल और प्रिया कभी नहीं भुला सकते। और अगले ही दिन विशाल फिर से दिल्ली चला गया ....

... कच्ची उम्र का पहला प्यार - Part 1
- RAKESH PAL
Follow on -
book now on khaalipaper Best hindi blog and story website