प्यार से उम्मीद और सच्चाई। प्यार सच या वहम

17 August, 2020
pyaar mein ummeed aur sachchai

कई लडकियों को तो प्यार का झासा देकर कोठे पर बेच दिया जाता है

आज के समय में प्यार एक खेल एक मनोरंजन और एक टाइम पास का जरिया बन गया है। प्यार का एक चलन सा हो गया है, आज इससे कल उससे तो परसों किसी और से हो जाता है यह प्यार नहीं बल्कि एक आकर्षण होता है जो समय समय पर परिवर्तित होता है लेकिन कुछ लोग इसे प्यार समझ बैठते है और इसमें पड़कर अपना समय और जिंदगी बर्बाद कर लेते है। कई लोग तो इस प्यार में अंधे होकर अपना घर छोड़ कर भाग जाते है और कई लोग तो शादी होने के बाद भी किसी और के साथ भाग जाते है।

आज के समय में ये प्यार में घर से भागना आम बात है। आज के युवा लड़के और लडकिया इस मामले में जादा फसकर अपना जीवन बर्बाद कर लेते है और अपने पीछे अपने घरवालो को भी परेशान कर देते है। ज्यादातर लडकिया ही ऐसा करती है थोडा पढ़ लेने के बाद उनको लगता है कि उनके जैसा विद्वान् दुनिया में और कोई नहीं है वो जो कर रही है वही सही है और उनके घरवाले और बाकि दुनिया वाले गलत है उनको प्यार कि समझ ही नहीं है।

जबकि ऐसा नहीं है असली दुनिया किताबी दुनिया से और फिल्मी दुनिया से बहुत ही अलग है जैसा कि हम फिल्मो में दिखाया जाता है और किताबो में बताया जाता है वैसा बिलकुल भी नहीं है। घर से भागने के बाद अपने मनपसंद आशिक के साथ जीवन में अनेक संघर्षो का सामना पड़ता है अपनी कई इच्छाओ को मरना पड़ता है और जिंदगी मज़बूरी में बितानी पड़ती है, सभी सपने चूर चूर हो जाते है जो घर से भागने के पहले देखे थे तब प्यार का भूत उतर जाता है लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी होती है कई तो बच्चा पैदा कर के छोड़ देते है और फिर मज़बूरी में आकार कई तो आत्महत्या कर लेते है और कई तो गलत रस्ते पर चली जाती है।

कई लडकियों को तो प्यार का झासा देकर कोठे पर बेच दिया जाता है। और कई वर्षो तक शोषण भी किया जाता है जब तक कि उनका मन न भर जाये। और मन भर जाने के बाद उन्हें बड़ी बेरहमी से मार भी दिया जाता है। ऐसे कई मामले देखने को मिलते है लेकिन फिर भी लडकियों को अकल नहीं आती वो प्यार में इस कदर अंधी हो जाती है कि उन्हें और कुछ दिखाई या सुनाई नहीं देता बाद में रोने और पछताने के अलावा कुछ नहीं होता। इसमें हर तरह से लडकियों का फायदा उठाया जाता है। लडकियों को यह समझना चाहिए कि उनके लिये क्या सही है और क्या गलत उनके एक गलत फैसले कि वजह से उनके घरवालो को कितना दुःख झेलना पड़ता है कितनी मुश्किलों से गुजरना पड़ता है।

जीवन बहुत ही अनमोल है अपने जीवन का हर एक फैसला बहुत ही सोच समझ कर ले, नहीं समझ में आए तो अपने घरवालो कि राय अवश्य ले।

- RAKESH PAL