Quotes
कितना चुभने लगा हूँ सबको छुरा तो नहीं हूँ
जितना बताते हो मेरे बारे में इतना बुरा तो नहीं हूँ..
जिसकी याद मे हमने खर्च की ज़िन्दगी अपनी..
वो शख़्स मुझको गरीब कह के चला गया..
"नींद आधी मौत" और "मौत मुकम्मल नींद"
About Khaali Paper
पढ़ें हिंदी कहानियाँ · प्रेरणादायक कवितायें · धर्म · समाज · लाइफ स्टाइल · रहस्य · मजेदार · स्टार्टअप स्टोरी · लघुकथा · राजनीति · समाज · संपादकीय · लाइफ स्टाइल · बौलीवुड ऑडियो · स्टोर · विचारसागर · प्रेम · रहस्य · हास्य · प्रेरक | अगर आप हिंदी में जानकारी पढ़ना पसंद करते हैं तो आप खाली पेपर के जरिये हम अनेकों जानकारी प्राप्त कर सकते हैं|
Share