Independence Day Special - स्वतंत्रता दिवस

August 15, 2020

इस 15 अगस्त (15 August) को देश में 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाया जाएगा.

स्वतंत्रता का अर्थ है आप देश के विकास में अपना सहयोग अपनी छमता के अनुसार कर सकते हैं। आप अपने व्यक्तिगत विकास के साथ-साथ अपने देश के लिए काम कर सकते हैं। आप किसी भी क्षेत्र में काम कर रहे हैं, कोई भी छोटा या बड़ा काम कर रहें है वो कोई बड़ी बात नहीं है बस सुनिश्चित करें कि आप ईमानदारी से काम कर रहे हैं और आप अपने सहयोगियों, अपने दोस्तों का समर्थन कर रहे हैं और कड़ी मेहनत के लिए प्रेरित करते हैं, समाज के नियमों का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

किसी भी स्ट्रीम या क्षेत्र में काम करते हुए, आप अपने देश के लिए प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से काम कर सकते हैं। जो आज़ादी हमे मिली है उसका सही मायने में हमे उपयोग करना चाहिए। जातिवाद(jatiwad) से ऊपर उठ कर देश के विकास में अपना हाँथ बढ़ाना चाहिए, अपने से कमजोर वर्ग की मद्दद करनी चाहिए।

इस विडिओ में आपने देखा होगा की किस तरह से हम लोग सिर्फ एक दूसरे से लड़ने और झगड़ने में अपना समय बरबाद कर रहे है और हमारे देश के सैनिक अपनी जान की बाजी लगा कर देश के दुश्मनों से हमारी और देश की ऱक्षा कर रहे हैं। हमें इन सबसे से दूर रह कर अपने जीवन और अपने देश के विकास में सहयोग करना चाहिए।

आपने सच्ची घटना पर आधारित कई फिल्में देखी हैं, कुछ किरदार उन फिल्मों में हैं जो वे आपको प्रोत्साहित और प्रेरित करती हैं। वे आपके पक्ष से भी योगदान चाहते हैं।

दशरथ माँझी (Dashrath Manjhi) जिनका जन्म 14 January 1929 को Gehlaur village में हुआ था जिन्हें "माउंटेन मैन"के रूप में भी जाना जाता है उन्होंने अपनी पत्नी की मृत्यु के बाद पहाड़ को २२ सालो बीच में से चीर दिया बिना किसी की सयायता से। गॉव वालों को पास के कस्बे तक जाने के लिए को 70 किमी चलना पड़ता था उसे दशरथ माँझी जी ने महज़ १ किलोमीटर तक कर दिया।

नीरजा भनोट (Neerja Bhanot) ने 360 लोगों की जान बचाई थी। नीरजा ने बलिदान, साहस और हिम्‍मत का दिया था परिचय। जिन्हें हीरोइन ऑफ हाईजैक के नाम भी जाना जाता है। जब मुम्बई से न्यूयॉर्क जाने के लिये रवाना पैन ऍम-73 को कराची में चार आतंकवादियों ने अपहृत कर लिया था और सारे यात्रियों को बंधक बना लिया। १७ घंटों बाद तंकवादियों ने यात्रियों की हत्या शुरू कर दी और विमान में विस्फोटक लगाने शुरू किये तब नीरजा ने विमान का इमरजेंसी दरवाजा खोलने में कामयाब हुईं और यात्रियों को सुरक्षित निकलने का रास्ता मुहैय्या कराया।